सकरा में टेकनिशि़यन के भरोसे चल रहा कई अलट्रासाउणड केन्द्र

Share

लापरवाही एक ही डॉक्टर के नाम पर कराया जा रहा पंचीयन
केंद्रों के बाहर भ्रूण जांच नहीं होने का लगा है बोर्ड
● मनमानी फीस वसूल कर कर रहे गरीबो का शोषण

मुजफ्फरपुर,सकरा :- कहने को सकरा में रजिस्टर्ड अल्ट्रासाउंड का संचालन हो रहा है. जिसमें गरीबों की जांच हो रही है मनमाने रकम की वसूली भी होती है पर थोड़ी गौर करने वाली बात यह है कि हम लोगों ने कभी इस बात पर चिंतन नहीं किया कि अल्ट्रासाउंड का रिपोर्ट देने वाला कौन है आखिर वह चिकित्सक है. जिनके नाम से अल्ट्रासाउंड रजिस्टर्ड है या फिर टेक्नीशियन जिनके पास डिग्री तक नहीं है मिडिल पास इंटर पास होने पर लैब टेक्नीशियन की जिम्मेदारी निभा रहे हैं इतना ही नहीं उनके पीछे की सच्चाई यह है कि जांच रिपोर्ट पर की गई हस्ताक्षर बीच के सखी नहीं होते हैरत की बात यह है कि वे तमाम चिकित्सक जिनके नामों पर सकरा थाना क्षेत्र में अल्ट्रासाउंड रजिस्टर्ड है उनके नाम से कई जगहों पर पहले से ही अल्ट्रासाउंड चल रहा है . बावजूद इसके प्रशासन की आंखों में धूल झोंक कर नीम हकीम टेक्नीशियन के द्वारा अल्ट्रासाउंड किया जा रहा है जिससे गरीबों की जान खतरे में पड़ गई है । आइए जानते हैं इससे संबंधित कुछ तथ्य ।
निबंधित अल्ट्रासाउंड अवैध रूप से ग्रामीण इलाके में या फिर निजी नर्सिंग होम में संचालित हो रहा है. सकरा में संचालित कई अल्ट्रासाउंड केंद्र टेक्नीशियन के भरोसे संचालित हो रहा है. वहीं कुछ केंद्रों में रेडियोलॉजिस्ट तो आते हैं, लेकिन वह महीने मे एक दो दिन ही समय दे पाते हैं. ऐसे में अन्य दिनों में उनके नाम पर टेक्नीशियन द्वारा ही केंद्रों का संचालन होता है तथा मरीजों की जांच होती है. ऐसे में कई बार जांच रिपोर्ट भी गलत होने की संभावना रहती है. जब मरीज द्वारा दोबारा किसी अन्य केंद्र में अल्ट्रासाउंड कराया जाता है और रिपोर्ट में भिन्नता मिलती है तब इसका खुलासा होता है कि चिकित्सक के बजाय टेक्नीशियन द्वारा मरीज की जांच कर रिपोर्ट बना दी गयी है. कई केंद्र संचालक तो अधिक पैसा कमाने के लालच में टेक्नीशियन के सहारे ही केंद्र का संचालन करा रहे हैं. रेडियोलॉजिस्ट चिकित्सक पर्याप्त संख्या में उपलब्ध नहीं होने के कारण भी ऐसा हो रहा है । ऐसा देखा जा रहा है कि प्रशिक्षित रेडियोलॉजिस्ट चिकित्सक की कमी के कारण एक ही चिकित्सक के नाम पर कई स्थानों पर केंद्रों का संचालन होता है. जिस चिकित्सक के नाम पर पटना में केंद्र का संचालन हो रहा है उसी चिकित्सक के नाम पर जहानाबाद और गया में भी केंद्र का संचालन हो रहा है. केंद्र संचालन के लिए निबंधन लेते समय चिकित्सक का प्रमाणपत्र जमा कराया जाता है. एक ही चिकित्सक के नाम पर कई स्थानों पर गलत तरीके से निबंधन ले लिया जाता है, जिसकी तहकीकात विभाग भी नहीं करता. ऐसे में चिकित्सक सभी स्थानों पर समय नहीं दे पाते हैं जिसका परिणाम परोक्ष रूप से मरीजों को भुगतना पड़ता है. डॉक्टर के नाम पर टेक्नीशियन फिटफाट होकर डॉक्टर के रूप में इन केंद्रों में तैनात रहकर संचालन करते हैं।

केंद्रों के बाहर भ्रूण जांच नहीं होने का लगा है बोर्ड:

सकरा में संचालित अधिकांश अल्ट्रासाउंड केंद्रों के बाहर भ्रूण जांच नहीं होने से संबंधित बोर्ड लगा है. जब भी कोई जांच टीम आती है तो यह बोर्ड देखकर खुश होती है कि यहां भ्रूण जांच नहीं होता है, लेकिन हकीकत इससे कोसों दूर है. अधिक पैसा कमाने के लालच में केंद्र संचालक द्वारा चोरी-छिपे भ्रूण जांच भी की जाती है. हालांकि ऐसे मरीजों का कोई रेकाॅर्ड नहीं रखा जाता और न ही ऐसे मरीजों को जांच रिपोर्ट ही उपलब्ध करायी जाता है. इस तरह जिले में भ्रूण लिंग जांच का भी धंधा फल फुल रहा है।
अल्ट्रासाउंड के लिए सबसे जरूरी रेट चार्ट होती है जो किसी भी अल्ट्रासाउंड सेंटर पर उपलब्ध नहीं रहती है टेक्नीशियन दलालों की मदद से मुंह मांगी रकम वसूल करते हैं आइए देखते हैं अल्ट्रासाउंड सेंटर के द्वारा निर्धारित राशि जो मरीजों से लेनी है परंतु टेक्नीशियन ओं के द्वारा उससे भी अधिक रुपए दिए जाते हैं ।
अल्ट्रासाउंड सेंटर पर चिकित्सा के नहीं रहने पर कार्रवाई का निर्देश सीएस ने दिया है वहीं उन्होंने योग्यता से संबंधित यह बात भी कही है ।
अल्ट्रासाउंड सेंटर संचालन में योग्यता संबंधी नियमों का उल्लंघन अब महंगा पड़ सकता है। इस संबंध में हेल्थ डिपार्टमेंट द्वारा कड़े निर्देश दिए गए हैं।बताया गया कि अल्ट्रासाउंड सेंटर्स में जांच करने के लिए एक्सपीरिएंश्ड गाइनिकोलॉजिस्ट के साथ-साथ रेडियोलॉजिस्ट के पास एमडी डिग्री होना जरूरी है। वहीं, एमबीबीएस डॉक्टर्स के लिए सोनोग्राफी या इमेज स्कैनिंग की छह महीने की ट्रेनिंग जरूरी है ।


Share

Vikash Mishra

NNBLiveBihar डॉट कॉम न्यूज पोर्टल की शुरुआत बिहार से हुई थी। अब इसका विस्तार पूरे बिहार में किया जा रहा है। इस न्यूज पोर्टल के एडिटर व फाउंडर NNBLivebihar के सभी टीम है। साथ ही वे इस न्यूज पोर्टल के मालिक भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!