सकरा में कमीशन की भेंट चठ रही नल जल योजना,, ‘मुखिया’ ने कहा नहीं हो रहा ‘मानक’ के अनुसार काम

Share

दो करोड़ से ज्यादा खर्च होने के बावजूद भी आम लोगों के पहुंच से दूर है शुद्ध जल योजना
अभिश्रव उपलब्ध नहीं कराने के कारण पंचायत नहीं दे रही राशि
मुखिया ने कहा नल जल योजना में नहीं हो रहा मानक के अनुसार काम

मुजफ्फरपुर जिले के सकरा प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत डिहुली इशहाक पंचायत में नल जल योजना में कमीशन की भेंट चठ कर रह गई है । सरकार की करीब 2 करोड़ रुपए वार्ड सदस्यों के द्वारा उठाव कर ली गई है. बावजूद इसके पंचायत के लोगों को शुद्ध जल मुहैया नहीं हो पा रही है । ग्रामीणों को इससे रोष व्याप्त है। सनद रहे कि पंचायत भीषण गर्मी में पानी के लिए लालायित हो जाती है । वाटर लेवल नीचे होने के कारण लोगों के समक्ष पेयजल की समस्या उत्पन्न हो जाती है. लोगों को खरीद कर पानी पीना होता है। इन सब के बावजूद 13 वार्डों में फैला पंचायत नल जल योजना के पूर्ण होने के इंतजार में टकटकी लगाए खड़ी है। वार्ड सदस्य रुपए निकासी कर काम को जैसे-तैसे कर इतिश्री करना चाह रहे हैं। वहीं पंचायत के मुखिया सरकार द्वारा दी गई गाइडलइन के अनुसार कार्य कराने के लिए वचनबद्ध है। उनका कहना है कि नल जल योजना गरीबों के लिए शुद्ध पेयजल की एक मात्र साधन है जिसमें कमीशन खोरी व लापरवाही कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उनका कहना है कि मुख्यमंत्री नल जल योजना का काम मानक के अनुरूप हो अगर नहीं होती है तो जांच करा कर उक्त योजना से निकाली गई अवैध निकासी की वसूली कराई जाएगी। उनका कहना है कि अभिकर्त्ता के द्वारा पाइप के गेज में कमी कर दो नंबर का पाइप लगाया गया है वही सप्लाई वाली पाइप में दो नंबर का पाइप लगाकर एक नंबर का भुगतान कराना चाह रहे हैं ।कहना यह भी है कि वार्ड सदस्यों के द्वारा मुखिया पर जबरन रुपए निर्गत के लिए दबाव दिया जाता है ।ज्ञात हो कि 2 वर्षों के अंतराल में वार्ड सदस्यों ने आज तक निकाली गई राशि का अभिश्रव पंचायत कार्यालय को उपलब्ध नहीं करा सकी है जिस कारण थक हार पंचायत के मुखिया ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है। वहीं 2 दिनों के अंदर अभिश्रव जमा करने का निर्देश दिया है ताकि शेष राशि निर्गत की जा सके । उधर वार्ड सदस्यों में भी नोटिस के बाद खलबली मची है । उन लोगों ने भी बैठकों का दौर शुरू कर दिया है । वार्ड सदस्य एक के उर्मिला देवी का कहना है कि उनको ₹9 लाख70हजार रुपए पंचायत से उपलब्ध कराई गई है जिसका काम कर चुके हैं लेकिन पानी चालू नहीं हुई है ।वार्ड संख्या दो में ₹14 लाख रुपया की निकासी की गई है. बावजूद इसके पानी बंद है । वार्ड संख्या 10 में ₹8 लाख की निकासी की गई है। जहां पानी बंद है । वार्ड संख्या 12 में ₹800000 की निकासी की गई है बावजूद इसके पानी अभी तक नहीं चालू की गई है । हैरत की बात यह है कि आज भी इन तमाम वार्डो में पेयजल की समस्या बनी हुई है । लोगों का आरोप है कि घटिया पाइप लगाने के कारण यह समस्या उत्पन्न हुई है आखिर नल जल को सुचारू रूप से चलाने के लिए पंचायत में बतौर इंजीनियर एवं कई कर्मी बहाल है बावजूद इसके अभिकर्ताओं के द्वारा दो नंबर पाइप लगाकर गरीबों के राशि का गबन किया जा रहा है पंचायत के मुखिया सोना देवी ने कहा है कि पंचायत में लगे नल जल योजना को सुचारू रूप से चलाया जाए एवं नल जल योजना में लगाई गई तमाम सामग्री की गुणवत्ता में समझौता न किया जाए । उन्होंने इस संदर्भ में वरीय अधिकारियों को भी कई बार लिखित रूप से शिकायत की है । बावजूद इसके नल जल योजनाओं की जांच ढाक के तीन पात साबित होकर रह गई है।


Share

Vikash Mishra

NNBLiveBihar डॉट कॉम न्यूज पोर्टल की शुरुआत बिहार से हुई थी। अब इसका विस्तार पूरे बिहार में किया जा रहा है। इस न्यूज पोर्टल के एडिटर व फाउंडर NNBLivebihar के सभी टीम है। साथ ही वे इस न्यूज पोर्टल के मालिक भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!