बिहार: अब बैंड-बाजे संग बारात को मंजूरी, शादी समारोह में शामिल हो सकते हैं 150 लोग

Share

बारात अब बैंड-बाजे के साथ निकलेगी। बारात में बैंड-बाजा बजाने की इजाजत दे दी गई है। शादी समारोह में पहले के मुकाबले ज्यादा लोग भी शामिल हो सकते हैं। बिहार सरकार ने 26 नवम्बर को जारी अपने आदेश को तीन दिन में ही बदल दिया है। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर शादी समारोह के लिए गृह विभाग ने रविवार को संशोधित आदेश जारी कर दिया।

समारोह स्थल के बाहर नहीं थी इजाजत
गृह मंत्रालय द्वारा जारी गाइडलाइन के बाद राज्य सरकार ने गुरुवार को शादी, श्राद्ध और कार्तिक पूर्णिया को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए थे। इसके अनुसार शादी समारोह में अधिकतम 100 लोगों के शामिल होने की इजाजत थी। वहीं, सड़कों पर बैंड-बाजा और बारातियों के जुलूस पर रोक लगा दी गई थी। रविवार को जारी अपने नए आदेश में राज्य सरकार ने इसमें बदलाव कर दिया है। अब बारात में 100 की जगह अधिकतम 150 लोग (स्टॉफ सहित) शामिल हो सकते हैं। वहीं बारात में गाने-बजाने की भी इजाजत दे दी गई है। शादी समारोह के दौरान सड़कों पर बैंड-बाजे बजेंगे और बारात निकालने की अनुमति होगी।

बाकी शर्तें ज्यों कि त्यों रहेंगी
बाकी शर्तें ज्यों कि त्यों रहेंगी। समारोह स्थल पर थर्मल स्क्रीनिंग और सेनेटाइजर की व्यवस्था रहेगी। सभी लोगों को अनिवार्य रूप से मास्क लगाना होगा। बीमार व्यक्तियों को इसमें शामिल होने की अनुमति नहीं दी गई है।

दिशा-निर्देश 3 तक प्रभावी
कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए 26 नवम्बर को शादी समारोह के लिए जो दिशा-निर्देश जारी किए गए थे वह 3 दिसम्बर तक प्रभावी हैं। बदलाव के साथ जारी आदेश फिलहाल इसी तारीख तक प्रभावी होगा। माना जा रहा है कि राज्य सरकार हालात की समीक्षा के बाद स्थिति को देखते हुए नया आदेश जारी कर सकती है।

कार्तिक पूर्णिमा व श्राद्ध कर्म के आदेश में बदलाव नहीं
सरकार द्वारा पूर्व में शादी समारोह के साथ कार्तिक पूर्णिमा और श्राद्ध कार्यक्रमों को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए गए थे। शादी समारोह को छोड़ बाकी में कोई फेरबदल नहीं किया गया है। श्राद्ध कर्म में अधिकतम 25 लोग ही शामिल हो सकते हैं। वहीं, कार्तिक पूर्णिमा के स्नान के लिए लोगों से नदी घाटों पर नहीं जाने की अपील की गई है। इसमें किसी तरह का कोई संशोधन नहीं किया गया है।

पटना से चलनेवाली बसों में आधे यात्री ही सफर करेंगे
पटना से आने-जानेवाली तमाम सार्वजनिक यात्री वाहनों में सफर के लिए जारी गाइडलाइन पहले के आदेश के अनुरूप ही लागू रहेंगे। बस या ऐसे दूसरे वाहनों में यात्रियों की संख्या सीटों की निर्धारित संख्या के 50 प्रतिशत से ज्यादा नहीं होगी। वहीं, कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामालों को लेकर पटना, बेगूसराय, जुमई, वैशाली, पश्चिम चंपारण और सारण जिले के आवश्यक सेवाओं से जुड़े कार्यालयों को छोड़ बाकी के सरकारी और निजी दफ्तरों में अधिकारियों-कर्मचारियों की संख्या को 50 प्रतिशत तक सीमित रखने का आदेश भी पूर्व की तरह लागू रहेगा।

बीस हजार से ज्यादा शादियां होंगी
लगन का मौसम शुरु हो चुका है। 13 दिसंबर तक चलने वाले लगन में बैंड-बाजा से लेकर टेंट-पंडाल तक की पूरी बुकिंग हो चुकी है। ऑल बिहार टेंट डेकोरेटर्स वेलफेयर एसोसिएशन के सचिव नॉलेज कुमार कहते हैं कि केवल पटना जिला में इस लगन में लगभग बीस हजार शादियां होने वाली हैं। बिहार बैंड वेलफेयर एसोसिएशन के महासचिव कहते हैं कि इस लगन में पटना में मौजूद लगभग पांच सौ बैंड-बाजा कंपनी का तीनों स्लॉट पूरी तरह बुक है। इस बार लगन 13 दिसंबर तक है।


Share

NNB Live Bihar

NNBLiveBihar डॉट कॉम न्यूज पोर्टल की शुरुआत बिहार से हुई थी। अब इसका विस्तार पूरे बिहार में किया जा रहा है। इस न्यूज पोर्टल के एडिटर व फाउंडर NNBLivebihar के सभी टीम है। साथ ही वे इस न्यूज पोर्टल के मालिक भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!