आक्रोश: राहत से वंचित बाढ़ पीड़ितों ने किया प्रखंड मुख्यालय पर सीओ का घेराव

Share

मुज़फ़्फ़रपुर जिले के सकरा प्रखड क्षेत्र के रूपंपट्टी मथुरापुर पंचायत में बाढ पीड़ितों को बाढ़ राहत राशी नहीं मिलने से आक्रोशित होकर ग्रामीणों ने पंचायत के मुखिया रवि रंजन उर्फ़ मुनचुन ठाकुर के खिलाफ पंचायतों के सैंकड़ों बाढ़ पीड़ितों ने मंगलवार को प्रखंड मुख्यालय पहुंच कर सीओ का घेराव किया। बाढ़ के कारण घर में पानी प्रवेश कर जाने से हुई नुकसान के बावजूद प्रखंड सह अंचल प्रशासन व मुखिया के खिलाफ लोगों का आक्रोश था । पंचायत के वार्ड 5,6,7,9.के दर्जनों बाढ़ पीड़ितों ने बाढ़ राहत मिलने का इंतजार करते-करते थक जाने के बाद विवश होकर मंगलवार को प्रखंड मुख्यालय पहुंचकर सीओ का घेराव किया। बाढ़ पीड़ितों ने आरोप लगाया है कि अंचला अधिकारी व पंचायत के मुखिया चंद लोगों को ही बाढ़ राहत का लाभ दिया है. शेष लोगों को सिर्फ आश्वासन दिया जाता है।

पीड़ितों का आरोप है कि समय रहते पीड़ित परिजनों को मुआवजा नहीं दिया गया तो वह लोग उग्र आंदोलन करेंगे सनद रहे कि इस तरह कि घटना प्रत्येक दिन किसी न किसी पंचायत की घटती रहती है । बताया जाता है कि अधिकांश पंचायतों में 100 से 200 परिवार अभी भी बाद राहत की राशि से वंचित है जो पंचायत व अंचल का चक्कर लगा रहे हैं. हालांकि कर्मियों के द्वारा उच्च अधिकारियों का हवाला देकर लोगों को घुमा रहे हैं तथा पंचायत प्रतिनिधि अंचलाधिकारी का हवाला देकर जिससे लोगों में आक्रोश है । दोनों जगहों पर बाढ़ पीड़ितों को सही आश्वासन नहीं मिल पाता है । पंचायत के मुखिया रवि रंजन कुमार उर्फ ने बताया कि अंचलाधिकारी को बाढ़ पीड़ितों की समस्या से अवगत कराया गया है वही उन्होंने यह भी कहा है कि करीब डेढ़ सौ परिवारों को बाढ़ राहत राशि नहीं मिली है जिसकी सूचना अंचल महकमा को है वे खुद अंचलाधिकारी से इस संदर्भ में बात किए हैं अंचलाधिकारी ने स्पष्ट रूप से कहा है कि 27 नवंबर के बाद साइट खोलने पर बकाया राशि का भुगतान होगा । पंचायत के मुखिया ने करीब डेढ़ सौ परिवारों को गुरुवार के दिन पर्व को देेेेखते हुए पांच सौ रुपये की सहायता की है ।


Share

NNB Live Bihar

NNBLiveBihar डॉट कॉम न्यूज पोर्टल की शुरुआत बिहार से हुई थी। अब इसका विस्तार पूरे बिहार में किया जा रहा है। इस न्यूज पोर्टल के एडिटर व फाउंडर NNBLivebihar के सभी टीम है। साथ ही वे इस न्यूज पोर्टल के मालिक भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!