सकरा विधानसभा सीट से 11 प्रत्याशी आजमा रहे हैं “किस्मत”, किसके सिर पर होगा विधायक का ताज

Share

 

वोट के बदले समाधान मांग रही जनता
सकरा विधानसभा क्षेत्र में 11 प्रत्याशी आजमा रहे किस्मत 
————————————
सकरा विधानसभा क्षेत्र में चुनाव को लेकर सरगर्मी जोरों पर है एक ओर जहां प्रत्याशी धनबल का प्रयोग कर जनता को लुभाने में लगे हैं. वहीं दूसरी ओर जनता विकास के मुद्दों को आगे रखकर प्रत्याशियों को अपने मानक पर कसने की तैयारी कर रहे हैं ।सवाल उठता है कि आखिर सकरा विधानसभा क्षेत्र के रहनुमा विकास की बात ही करेंगे या उसका समाधान भी? लोगों में आक्रोश है सरकार के खिलाफ ! आखिर क्यों न हो वजह साफ दिख रही है कि 15 वर्षों की राजद गठबंधन की सरकार ने सकरा विधानसभा क्षेत्र के लोगों के समक्ष बुनियादी सुविधा भी ठीक से मुहैया नहीं करा सकी ।सबहा से मरिचा जाने वाली सड़क पर लंबे वर्षों से लहोरना पुल ध्वस्त होकर सरकार के कुशासन की पोल खोल रही है ।वहीं दूसरी ओर तजीया चौक पर पुल के निर्माण की मांग आज तक पूरी नहीं हो सकी ।बरियारपुर पंचायत में इकलौता आयुर्वेद अस्पताल को रोकने के लिए जनप्रतिनिधि समेत ग्रामीणों के द्वारा सरकार को घेरा गया ।स्वास्थ्य मंत्री तक बात को पहुंचाई गई लेकिन आयुर्वेद अस्पताल बरियारपुर में न रखकर उसे मुरौल मे भेज दिया गया । अस्पताल नही होने से 50 हजार की आबादी प्रभावित हुई है । इतना ही नहीं वर्ष 1990 से अब तक सकरा को अनुमंडल बनाने के लिए तमाम नेताओं ने एड़ी चोटी की जोड़ लगा दी बावजूद इसके सरकार के माथे जू तक नहीं रगी।

जनता तमाम मुद्दों पर एक बार फिर नेताओं को कसौटी पर कसने के लिए तैयार हैं । कौन करेगा सकरा का विकास ? किस के माथे होगा ताज ? इसका निर्णय 7 नवंबर को होना है । तमाम प्रत्याशी एक दूसरे को मात देने के लिए दर-दर भटक रहे हैं ।जातीय गोलबंदी से लेकर धर्म संप्रदाय तक की बात कर एक दूसरे को पटकनी देने के लिए तैयार हैं । लेकिन जनता खामोशी अख्तियार कर मुद्दे की बात कर रही है । देखना यह है की महागठबंधन के प्रत्याशी उमेश कुमार राम ,जदयू के प्रत्याशी अशोक कुमार चौधरी व लोजपा के प्रत्याशी संजय पासवान के अलावे आधा दर्जन से अधिक निर्दलीय
जनता के मुद्दों पर कितना खरे उतरते हैं । सकरा में फिलहाल जातीय गोलबंदी की तैयारी शुरू हो गई है परंतु लोग वोट के बदले समाधान मांग रहे हैं ।


Share

Vikash Mishra

NNBLiveBihar डॉट कॉम न्यूज पोर्टल की शुरुआत बिहार से हुई थी। अब इसका विस्तार पूरे बिहार में किया जा रहा है। इस न्यूज पोर्टल के एडिटर व फाउंडर NNBLivebihar के सभी टीम है। साथ ही वे इस न्यूज पोर्टल के मालिक भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!