आफताब आलम गरीबों मेहनतकशों की मजबूत आवाज :- मीना तिवारी

Share

मोदी सरकार कृषि बिल के जरिए किसानों को गुलाम बना चाह रही है: भाकपा-माले

देश के अंदर जो भी सरकारें अब तक बनती रही हैं उन तमाम सरकारों ने देश के किसान और मजदूरों के को सामने रखकर सरकार बनाएं लेकिन आजादी के 74 वर्षों के बाद भी किसानों मजदूरों गरीबों की जीवन में कोई बदलाव नहीं हूआ और यह मोदी सरकार अभी जो संसद में कृषि बिल लेकर आई है ।यह बिल पूरी तरीके से खेती को कारपोरेट के हवाले करना एवं किसानों को गुलाम बनाने की एक सोची समझी साजिश है।

आज बिहार पुरानी ताकतों को ध्वस्त करते हुए आगे बढ़ना चाहता है ।इसलिए इस बिहार विधानसभा के चुनाव में बिहार के गांव में खेतों में खलिहान में सड़कों पर लाल झंडे का तूफान दिख रहा है ।उपरोक्त बातें भाकपा माले की पोलिट ब्यूरो की सदस्य व अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन के राष्ट्रीय महासचिव कॉमरेड मीना तिवारी ने आज औराई विधानसभा स्तरीय कार्यकर्ता कन्वेंशन को एपीजे अब्दुल कलाम आईटीआई कॉलेज में संबोधित करते हुए कहीं उन्होंने कहा की अब तक औराई में जो भी लोग यहां के लोगों का वोट लेते रहे हैं

उन लोगों ने इस चित्र को विकास से कोसों दूर रखा है कार्यकर्ता कन्वेंशन को संबोधित करते हुए भाकपा माले के औराई विधानसभा के प्रत्याशी कॉमरेेड आफताब आलम ने कहा कि जिस तरह से औराई के तमाम गांव में कटरा के तमाम गांव में लोगों का समर्थन मिल रहा है उसे एक बात साबित हो गया है कि लोग औराई को आगे बढ़ना देखना चाहते हैं औराई अब चचरी पुलों से, भ्रष्टाचार से ,खराब स्वास्थ्  से मुक्ति चाहता है।

इसलिए इस लाल झंडे को रोकना इस बार संभव नहीं है। इस अवसर पर भाकपा-माले जिला कमिटी सदस्य मनोज यादव, इंसाफ मंच बिहार के अध्यक्ष सूरज कुमार सिंह, रियाज खान, फहद जमां, महफ़ूज आलम, शमशेर आलम, मुकेश पासवान, नारायण दास,मोहम्मद चांद,मोहम्मद शमश आलम, शाहिद अली, उपेन्द्र पासवान, के अलाव सैकड़ों की संख्या में कार्यरता उपस्थित थे ।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!