Lockdown: 300 किलोमीटर दूर घर जाने को पैदल रवाना हुआ शख्स, रास्ते में मौत

Share

नई दिल्ली: कोरोना के चलते देशभर में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन लागू कर दिया गया है. इससे सबसे ज्यादा परेशानी उन लोगों को हो रही है जो अपने घर से दूर दिल्ली रोजी-रोटी के लिए आए लेकिन अचानक लॉकडाउन होने के बाद मुश्किलों में पड़ गए हैं. ऐसे में इनमें से कई लोग वापस अपने घर रवाना हो रहे हैं लेकिन यातायात का कोई साधन न होने के कारण पैदल ही निकलने को मजबूर हो गए हैं. इसी कोशिश में एक 38 साल के शख्स की मौत हो गई है. दरअसल रणवीर सिंह नाम का शख्स मध्य प्रदेश के मुरैना स्थित अपने घर के लिए पैदल ही रवाना हो गया था. 200 किलोमीटर पैदल चलने के बाद दिल्ली-आगरा हाइवे पर उसकी मौत हो गई. वहां से उसका घर 100 किलोमीटर दूर था.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उसके साथ मौजूद दो और लोगों ने बताया कि सड़क पर बेहोश होने से पहले रणवीर ने सीने में दर्द की शिकायत की थी इसके थोड़ी देर बाद ही वो गिर गया. फिलहाल रणवीर का शण ऑटोप्सी के लिए भेज दिया गया है और सभी फॉरमैलिटी के बाद शव परिवार को सौंप दिया जाएगा.

Lockdown

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रणवीर साउथ दिल्ली के तुगलकाबाद में एक रेस्टोरेंट में काम करता था. लॉकडाउन हुआ तो सभी दुकानों को बंद कर दिया गया हालांकि जो रेस्टोरेंट खाने की होम डिलीवरी करते थे उनको खुला रखने की इजाजत दी. लेकिन लॉकडाउन के शरुआती दिनों में पुलिस ने उन रेस्टोरेंट्स को भी बंद करवा दिया जिससे रणवीर अपने घर जाने को मजबूर हो गया.

इसके अलाव कई लोग ऐसे भी थे जो गाड़ियों और रिक्शों से अपने घर रवाना हुए. ऐसा नहीं है कि ये हाल सिर्फ दिल्ली का हो. बल्कि आंध्र- प्रदेश, कर्नाटक और तेलंगाना का भी यही हाल है जहां लोग बेरोजगार होने के डर से अपने घर रवाना हो गए हैं. इस बीच शुक्रवार रात भयंकर हादसा हुआ जिसमें 8 प्रवासियों की जान चली गई. इसमें एक तीन साल का बच्चा भी शामिल था. जिस गाड़ी का एक्सिडेंट हुआ, उसमें कुल 23 लोग थे बुलेरो मैक्स कार में आए थे फिर आमों से भरे ट्रक से इनकी टक्कर हो गई. बता दें, देशभर में कोरोना के अबतक हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं जबकि 27 लोगों की मौत हो गई हैै!


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!