आइसा कार्यकर्ता व माले कार्यालय पर हमला करने वाले को गिरफ्तार करने की मांग

Share

पुलिस लाइन कन्हौली में महिलाओं पर आधीरात में पुलिसिया जुल्म तथा आइसा के पूर्व अध्यक्ष सहित आइसा की छात्राओं व माले कार्यकर्ताओं पर दर्ज फर्जी मुकदमा के खिलाफ शहर में आइसा ने निकाला आक्रोश मार्च।

महिलाओं के साथ मारपीट व फर्जी मुकदमा कराने के लिए जिम्मेवार मिठनपुरा थाना प्रभारी भागीरथ प्रसाद पर कारवाई करे सरकार – आइसा

महिलाओं के साथ मारपीट व फर्जी मुकदमा कराने के लिए जिम्मेवार मिठनपुरा थाना प्रभारी भागीरथ प्रसाद पर कारवाई करे सरकार : आइसा

आइसा के पूर्व राज्य अध्यक्ष सह माले नगर सचिव सूरज कुमार सिंह, आइसा की छात्राओं तथा नौजवान सभा के जिला सचिव व माले कार्यकर्ताओं-समर्थकों पर मिठनपुरा थाना में दर्ज झूठा मुकदमा, आधीरात में पुलिस लाइन कन्हौली स्थित मुहल्ले के घरों में घुसकर दर्जनों पुलिस द्वारा महिलाओं, लड़कियों व बच्चों के साथ मारपीट व बदसलूकी तथा माले नगर कार्यालय पर हमला तथा पार्टी की महिला व छात्राओं के बारे में घटिया व महिला विरोधी प्रचार के खिलाफ आइसा ने शहर में आज आक्रोश मार्च निकाला। मुखर्जी सेमिनरी लेन स्थित आइसा कार्यालय से मार्च शहर के विभिन्न क्षेत्रों से गुजरते हुए कल्याणी चौक पहुंचा। इस दौरान आइसा की तीन छात्राओं सहित नौजवान सभा व माले कार्यकर्ताओं-समर्थकों पर झूठा मुकदमा दर्ज कराने, महिलाओं से मारपीट तथा माले नगर कार्यालय पर हमला के लिए जिम्मेवार मिठनपुरा थाना प्रभारी भागीरथ प्रसाद को निलंबित करने की मांग नीतीश सरकार से की गई। माले नगर सचिव सूरज कुमार सिंह सहित, छात्राओं, नौजवान सभा के जिला सचिव राहुल कुमार सिंह सहित माले कार्यकर्ताओं- समर्थकों पर दर्ज फर्जी मुकदमा खारिज करने की भी मांग उठायी गई। पुलिसिया ज्यादति पर रोक लगाने तथा घायल महिलाओं को मुआवजा देने की भी मांग उठायी गई। साथ ही माले नगर कार्यालय पर हमला करने वालों को पुलिसिया संरक्षण के बदले गिरफ्तार करने पर जोर दिया गया।

आक्रोश मार्च में आइसा के राज्य कमेटी सदस्य विकेश कुमार, दीपक कुमार, रौशन कुमार, अजय कुमार,अजीत कुमार सहित विवेक रंजन, विकास रंजन, प्रिंस कुमार, सुभम कुमार, इंकलाबी नौजवान के आजम हुसैन, नागेन्द्र कुमार यादव, गुलजार, रेयाज खान, शहनबाज, जैद अहमद, मो.एजाज, मयंक कुमार, इंसाफ मंच के मतलुबूर रहमान, कामरान रहमानी, मो.नौशाद, साकिब, मो.तौहिद, इरफान, आइसा-इनौस के राहुल देव, समर, अमर सहित अन्य छात्र- नौजवान शामिल थे।

आक्रोश मार्च को संबोधित करते हुए छात्र-नौजवानों ने कहा कि नीतीश के तथाकथित सुशासन में महिलाओं, छात्राओं सहित न्याय व लोकतंत्र के लिए आवाज उठाने वाले लोगों को निशाना बनाया जा रहा है। कोरोना महामारी के दौर में रात में दर्जनों पुलिस द्वारा गरीबों व माले कार्यकर्ताओं व अन्य लोगों के घरों में घुसकर महिलाओं पर बर्बरता ढ़ाई जा रही है। इसके लिए जिम्मेवार मिठनपुरा थाना प्रभारी भागीरथ प्रसाद पर कारवाई करने के बदले पुलिसिया धमकी जारी है। माले जैसे गरीबों, मजदूर-किसानों व आमलोगों के लिए संघर्षरत पार्टी माले कार्यालय पर हमला करने वाले को गिरफ्तार करने के बदले बचाया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि न्याय के लिए आंदोलन और तेज किया जायेगा!

और भी खबर जानना चाहते हैं तो जुड़े रहे एन.एन.बी लाइव बिहार आपको रखे आगे


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!