Kerala Plane Crash: विमान हादसे में को-पायलट अखिलेश कुमार की हुई मौत, 10 दिन बाद ही पत्नी की होनी है डिलीवरी

Share

नई दिल्ली: केरल के कोझिकोड इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर 7 अगस्त यानी शुक्रवार की रात भीषण विमान हादसे में मुख्य पायलट और सह-पायलट समते 18 लोगों की मौत हो गई। एयर इंडिया की इस विमान में 10 नवजात समेत 184 यात्री, जिनमें दो पायलट और चालक दल के चार सदस्य मौजूद थे।

ये हादसा तब हुआ जब दुबई से आ रही एयर इंडिया की फ्लाइट लैंडिंग के समय हवाईपट्टी से फिसल गई। इस हादसे में को-पायलट अखिलेश कुमार की मौत की खबर से न केवल उनके परिवार में मातम छाया हुआ है बल्कि पूरे देश में शोक की लहर दौड़ गई है।

पायलट अखिलेश कुमार वही शख्स हैं जिनका 8 मई, 2020 कोझीकोड एयरपोर्ट पर नायक के तौर पर जोरदार तालियों के साथ स्वागत किया गया था।

वह एयर इंडिया एक्सप्रेस के विमान चालक दल के हिस्सा थे जो वंदे भारत मिशन के तहत दुबई में कई फंसे भारतीयों को अपने वतन वापस लाने गये थे। लेकिन तीन महीने बाद यानि 7 अगस्त को हुए विमान हादसे से अखिलेश कुमार की मौत हो गई और और अखिलेश अपने पीछे अपनी गर्भवती पत्नी को छोड़ गए।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 32 साल के अखिलेश कुमार की पत्नी मेघा गर्भवती हैं और 10 दिन बाद उनकी डिलीवरी होनी है। अखिलेश कुमार उत्तर प्रदेश के मथुरा रहने वाले हैं।

अखिलेश की शादी दिसंबर साल 2017 में हुई थी। लेकिन उनके घर में खुशी की खबर से पहले ही दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। अखिलेश के घर में उनकी पत्नी के सिवाय उनके दो छोटे भाई, एक बहन और उनके माता-पिता हैं। लॉकडाउन से पहले अखिलेश ने एक बार मथुरा का दौरा किया था।

अखिलेश ने 2017 में एयर इंडिया के साथ उड़ान शुरू की। वह मई में कोझीकोड-दुबई-कोझिकोड से एयर इंडिया एक्सप्रेस उड़ान के पहले अधिकारी थे, जो वंदे भारत मिशन के पहले चरण का हिस्सा थे।

केरल विमान हादसा कैसे हुआ, इसकी जांच चल रही है। वहीं, इस हादसे की एक बड़ी वजह बारिश को भी माना जा रहा है, जिसके कारण हवाई जहाज हवाई पट्टी पर फिसलते हुए बहुत दूर तक चला गया। इसी बीच नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने घटना स्थल का मुआयना किया और हादसे में जिन लोगों की मौत हुई है, उनके परिवार के लोगों को सहायता राशि के तौर पर 10 लाख रुपए देने की घोषणा की है।

अखिलेश ने 2017 में एयर इंडिया के साथ उड़ान शुरू की। वह मई में कोझीकोड-दुबई-कोझिकोड से एयर इंडिया एक्सप्रेस उड़ान के पहले अधिकारी थे, जो वंदे भारत मिशन के पहले चरण का हिस्सा थे।

केरल विमान हादसा कैसे हुआ, इसकी जांच चल रही है। वहीं, इस हादसे की एक बड़ी वजह बारिश को भी माना जा रहा है, जिसके कारण हवाई जहाज हवाई पट्टी पर फिसलते हुए बहुत दूर तक चला गया। इसी बीच नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने घटना स्थल का मुआयना किया और हादसे में जिन लोगों की मौत हुई है, उनके परिवार के लोगों को सहायता राशि के तौर पर 10 लाख रुपए देने की घोषणा की है।


Share

NNB Live Bihar

NNBLiveBihar डॉट कॉम न्यूज पोर्टल की शुरुआत बिहार से हुई थी। अब इसका विस्तार पूरे बिहार में किया जा रहा है। इस न्यूज पोर्टल के एडिटर व फाउंडर NNBLivebihar के सभी टीम है। साथ ही वे इस न्यूज पोर्टल के मालिक भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!