सकरा पुलिस पर जानलेवा हमला मामले में एसएसपी के नेतृत्व में छापेमारी, 14 आरोपित गिरफ्तार

Share

 

सकरा पुलिस पर जानलेवा हमला मामले में एसएसपी के नेतृत्व में करीब दस थाने की पुलिस ने बुधवार रात करीब ढाई बजे विष्णुपुर बघनगरी गांव में संयुक्त कारवाई की। पुलिस ने हमलावर बाढ़ पीड़ितों की पिटाई की और 14 आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस सभी को गिरफ्तार कर सीधे मनियारी थाना ले गई।

सकरा थाना के घायल थनाध्यक्ष रामनाथ प्रसाद देर रात से मुजफ्फरपुर के एक निजी हॉस्पिटल में आईसीयू में भर्ती हैं। सैप जवान और दोनों होमगार्ड जवान भी इलाजरत हैं।

सकरा पुलिस चोटिल पीटीसी पुलिस कर्मी के बयान पर एफआईआर दर्ज करने की तैयारी कर रही है। पुलिस और पब्लिक भिड़ंत के बाद गांव के 14 लोगों की गिरफ्तारी से हमलावरों के परिवारों में दहशत है। बाढ़ विस्थापित शरणस्थल से अपना आशियाना छोड़कर काफी संख्या में महिलाएं व बच्चों के साथ अपने रिश्तेदारों के घर पलायन कर गये हैं।

पांच दिनों के भीतर दो बार सकरा पुलिस पर ग्रामीणों के हमले से सकरा थाना के पुलिस कर्मी भी सहमे हुए हैं। प्रभारी थानाध्यक्ष लाल किशोर गुप्ता ने बताया कि पुलिस पर हमला कर घायल करने, गाड़ी क्षतिग्रस्त करने के आरोप में एफआईआर दर्ज की जाएगी। देर रात छापेमारी कर 14 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। महिलाओं की पिटाई का आरोप गलत है।

पुलिस पर आरोप, तंबू घेर लोगों को पीटा

पुलिस कार्रवाई के बाद महिलाओं ने बताया कि जब सभी सो रहे थे अचानक पुलिस बाढ़ पीड़ितों के तंबू को घेरकर डंडा बरसाने लगी। महिलाओं की भी पिटाई की। इसमें कई जख्मी हैं। पिटाई करते हुए 15 लोगों को पुलिस पकड़कर ले जाने की बात कही। हालांकि पुलिस 14 लोगों की गिरफ्तारी की पुष्टि कर रही है।

इससे पहले एक अगस्त को मुरौल के महमदपुर कोठी पर तिरहुत नहर बांध जेसीबी से काटने के विरोध में बवाल हुआ था। इस दौरान भी पुलिस पर हमला हुआ था। इसमे सकरा, पियर, मुशहरी थाना समेत कई पुलिस कर्मी घायल हो गए थे। इसके बाद विष्णुपुर बघनगरी गांव में बाढ़ से विस्थापित महादलितों ने भोजन की मांग को लेकर एनएच 28 को जाम कर हंगामा प्रदर्शन किया। पुलिस के पहुंचते ही भिड़ंत हो गई। इसमें थनाध्यक्ष समेत चार पुलिसकर्मी घायल हो गए।

जरूरत पड़ी तो इलाज के लिए बाहर भेजे जाएंगे थानाध्यक्ष

पुलिस-पब्लिक भिड़ंत में घायल सकरा थानेदार रामनाथ प्रसाद की स्थिति नाजुक बनी हुई है। अभी वे अहियापुर में मेडिकल कॉलेज के समीप स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती हैं। गुरुवार एसएसपी जयंतकांत, एसडीओ पूर्वी डॉ. कुंदन कुमार, नगर डीएसपी रामनरेश पासवान व शहरी थाने के कई थानेदार अस्पताल जाकर थानेदार व अन्य पुलिसकर्मियों की सुध ली। बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष रवींद्र कुमार यादव भी उन्हें देखने पहुंचे। एसएसपी ने डॉक्टरों से स्थिति की जानकारी ली। बताया जाता है कि रामनाथ प्रसाद के सिर में गंभीर चोट है। एसएसपी ने बताया कि जरुरत पड़ने पर उन्हें पटना या अन्य जगह बेहतर इलाज के लिए भेजा जाएगा।

इनपुट:- लाइव हिंदुस्तान


Share

Vikash Mishra

NNBLiveBihar डॉट कॉम न्यूज पोर्टल की शुरुआत बिहार से हुई थी। अब इसका विस्तार पूरे बिहार में किया जा रहा है। इस न्यूज पोर्टल के एडिटर व फाउंडर NNBLivebihar के सभी टीम है। साथ ही वे इस न्यूज पोर्टल के मालिक भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!