महाकाल के पावन महीने सावन में भक्तों को इस बार बाबा के शिवलिंग पर जलाभिषेक करने पर मंडरा रहे है बादल

Share

समस्तीपुर:- शिवभक्तों का प्रिय माह सावन में इस बार बाबा के शिवलिंग पर जलाभिषेक करने पर संकट के बादल छा रहे है। यही नही सावन माह में लगने वाले मेला पर कोरोना का संकट गहरा गया है। कोरोना काल में जिला प्रशासन जिले स्थित शिवमंदिरों के पास मेला आयोजित कराने को लेकर कोई भी रिस्क लेना नहीं चाहती है। हालांकि इसको लेकर कोई आदेश जारी नहीं किया गया बावजूद जलाभिषेक व मेले को लेकर जो तैयारियां होनी चाहिए थीं वह किसी भी शिवमंदिर में नहीं हो रही हैं।

फ़ोटो:- थानेश्वर स्थान मंदिर (समस्तीपुर)

 

मुख्यालय स्थित बाबा थानेश्वरनाथ मंदिर में एसडीओ चेयरमैन होते हैं। उन्होंने मेले के आयोजन को लेकर कहा कि जिले में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में फिलहाल कोई भी फैसला लेना संभव नहीं है। सावन माह में शिवमंदिरों के आसपास मेला को लेकर पहले से पूरी तैयारी शुरू हो जाती हैं। मंदिर प्रशासन की ओर से भारी भीड़ को देखते हुए तैयारियों पर काम शुरू कर दिया जाता है।

 

लेकिन वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण के खौफ से ऐसी कोई तैयारी अभी तक नहीं हो सकी है। इधर मंदिर के आसपास मेला को लेकर तैयारी करने वाले दुकानदार भी खामोश है। लॉकडाउन के कारण पहले से आर्थिक तंगी से जुझ रहे दुकानदार इस बार कुछ भी करने से परहेज कर रहे है।

शिवरात्रि में ही हुआ है मंदिर कर रंगरोगन

बाबा थानेश्वरनाथ मंदिर के रंग रोगण का कार्य लॉकडाउन से पूर्व की कराया गया है। सामाजिक लोगों ने खुद अपने बल पर सावन माह की तैयारी मद्देजनर इस काम को अंजाम दिया था। फरवरी माह में ही पूरे शिवमंदिर में रौशनी की बेहतर व्यवस्था की गई थी।

मंदिर में पुजारी शंकर झा ने बताया कि फिलहाल सावन को लेकर कोई विशेष व्यवस्था नहीं की जा रही है। प्रशासन के आदेश का इंतजार किया जा रहा है। कोरोना काल में किसी भी प्रकार को कोई रिस्क नहीं लेना चाहिए।

मंदिर में सोशल डिस्टेंसिंग रखना आसान नहीं

मनोकामना लिंग पर जलाभिषेक के लिए विद्यापतिधाम में सावन में पूरे माह भर शिव भक्तों की भीड़ उमड़ी रहती है। सरकार के दिशानिर्देश पर मंदिर तो खुल गया। लेकिन सोशल डिस्टेंस का पालन करना मंदिर विकास समिति के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रहा है।

फ़ोटो:- विधापति धाम

बीती रात भी मंदिर परिसर में सम्पन्न शादी में लोगों की भारी भीड़ जुट गई थी। ऐसे में श्रावणी मेला में आनेवाले श्रद्धालुओं को सुविधा देने के साथ ही सोशल डिस्टेंस एवं लॉ ऑर्डर को मेंटेन रखना आसान नहीं होगा। मंदिर विकास समिति के अध्यक्ष गणेश गिरी कवि ने कहा कि श्रावणी मेला को लेकर अभी कुछ तय नहीं हुआ है। परंतु आस्थावान भक्तों को जलाभिषेक में हमारे वॉलंटियर सहयोग देंगे।

 

क्रेडिट:- समस्तीपुर टाउन


Share

Vikash Mishra

NNBLiveBihar डॉट कॉम न्यूज पोर्टल की शुरुआत बिहार से हुई थी। अब इसका विस्तार पूरे बिहार में किया जा रहा है। इस न्यूज पोर्टल के एडिटर व फाउंडर NNBLivebihar के सभी टीम है। साथ ही वे इस न्यूज पोर्टल के मालिक भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!