बड़ी ख़बर: मुज़फ़्फ़रपुर में दिल्ली से पत्नी के साथ आए प्रवासी मजदूर की कोरोना से हुई मौत

Share

मुजफ्फरपुर में कल सुबह सदर असपताल में 51 वर्षीय कटरा निवासी एक व्यक्ति जो अपने पत्नी के साथ 1 जून को दिल्ली से आए थे उनकी मृ’त्यु हो गई, इससे पूर्व उन्हें कटरा मध्य विद्यालय में क्वॉरेंटाइन केंद्र में में रखा गया था।

तबीयत ख’राब होने के बाद प्रखंड हेल्थ क्वॉरेंटाइन केंद्र में वे अपने पत्नी के साथ रह रहे थे। जहां स्थानीय पीएचसी द्वारा उनका इलाज चल रहा था ।

मामले की जानकारी देते हुए जिला जनसंपर्क अधिकारी कमलेश सिंह ने बताया की 4 जून को रात में सदर अस्पताल में भर्ती हुए तथा 05 जून को सुबह लगभग 7:00 बजे इलाज के क्रम में उनकी मृ’त्यु हो गई।

वहीं 2 जून 2020 को उनका और उनके पत्नी का सैंपल लिया गया था जिसका रिपोर्ट आज यानी 06 जून को 5:00 बजे प्राप्त हुआ। रिपोर्ट में मृ’तक कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। उनके पत्नी का भी रिपोर्ट पॉजिटिव आया है ।

निर्धारित प्रोटोकॉल के तहत मृ’तक का अंतिम संस्कार किया जाएगा ।सरकार द्वारा सहायता राशि के रूप में चार लाख की राशि उनके परिजन को उपलब्ध कराई जाएगी।

वहीं मृ’तक की पत्नी को भी मेडिकल टीम द्वारा आइसोलेट करने की प्रक्रिया की जा रही है।उनके क्लोज कांटेक्ट की जानकारी भी मेडिकल टीम द्वारा प्राप्त की जा रही है।

वहीं मौ’त के बाद नगर थाने को आवेदन दे पत्नी ने पुलिस को बताया कि उसके पति दिल्ली में रहकर खिलौना बेचते थे। लॉकडाउन के दौरान 26 मई को दिल्ली से मुजफ्फरपुर ट्रेन से पहुंचे। इसके बाद वह सीधे कटरा पीएचसी गए। वहां चिकित्सकों ने स्क्रीनिंग कर होम क्वारंटाइन की सलाह दी।इसके बाद वह घर जाकर होम क्वारंटाइन हो गए।

होम क्वारंटाइन के छठे दिन तबीयत बि’गड़ी :

छठे दिन होम क्वारंटाइन के दौरान उसकी तबीयत बि’गड़ गई। खांसी व बुखार हो गया साथ ही खाने की भी रुचि ख’त्म हो गई। इसपर परिजन सातवें दिन उन्हें कटरा पीएचसी ले गये। वहां से चिकित्सकों ने एसकेएमसीएच रेफर कर दिया। एसकेएमसीएच पहुंचने पर डॉक्टर ने कोरोना की जांच के लिए सैंपल लिया और पुन: कटरा पीएचसी भेज दिया। जहां कटरा पीएचसी के डॉक्टर ने वहीं एक कमरे में क्वारंटाइन कर दिया।

चार जून को दोबारा बि’गड़ी तबीयत :

पत्नी ने बताया कि कटरा पीएचसी में उसके पति की सेहत में कोई सुधार नहीं हुआ। लगातार सेहत गिरते ही गया। बीते चार जून को खांसी, बुखार के अलावा सांस की परे’शानी भी होने लगी। इसकी जानकारी पर परिजन चार जून की देर रात 10 बजे कटरा पीएचसी पहुंचे। वहां से डॉक्टर की सलाह पर एसकेएमसीएच एंबुलेंस से लाए। लेकिन रात में एसकेएमसीएच में डॉक्टर ने सुरेश को अटेंड नहीं किया। इसके परिजन उसके सदर अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां चिकित्सक ने बगैर देखे ही भर्ती कर दिया। सुबह करीब छह बजे उसकी मौ’त हो गई।


Share

NNB Live Bihar

NNBLiveBihar डॉट कॉम न्यूज पोर्टल की शुरुआत बिहार से हुई थी। अब इसका विस्तार पूरे बिहार में किया जा रहा है। इस न्यूज पोर्टल के एडिटर व फाउंडर NNBLivebihar के सभी टीम है। साथ ही वे इस न्यूज पोर्टल के मालिक भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!