बिहार में विदेशी सब्जी की खेती करने वाले किसानों को बीज पर मिलेगा 90 फीसदी अनुदान

Share

यह योजना बिहार सरकार (Government Of Bihar) के उद्यान विभाग द्वारा संचालित की जा रही है और इसका लाभ लेने के लिए किसान उद्यान विभाग की वेबसाइट www.horticulture.bihar.gov.in पर जाकर एकीकृत बागवानी विकास योजना के लिंक से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं

बिहार सरकार (Government of Bihar) ने विदेशी नस्ल की सब्जी को बढ़ावा देने के लिए किसानों को 90 फीसदी अनुदान (Subsidy) देने की घोषणा की है. राज्य के कृषि, पशुपालन सह मत्स्य विभाग के मंत्री डॉ प्रेम कुमार (Agriculture and Animal and Fishery Resources Minister Dr. Prem Kumar) ने बताया कि सरकार विदेशी एवं उन्नत सब्जी की खेती को बढ़ावा देने के लिए कई तरह की सहायता योजना चला रही है. इसके तहत पौधे और बीज पर 90 फीसदी अनुदान दिया जा रहा है. विदेशी सब्जी के एक पौध की कीमत 10 रुपया है, जिसे कृषि विभाग 1 रुपए में उपलब्ध करवा रहा है और संकर सब्जी के पौध की कीमत 3 रुपया है, जिसे विभाग 30 पैसे में किसानों का उपलब्ध करवा रहा है.

ऐसे करें आवेदन

यह योजना उद्यान विभाग द्वारा संचालित की जा रही है और इसका लाभ लेने के लिए किसान उद्यान विभाग की वेबसाइट www.horticulture.bihar.gov.in पर जाकर एकीकृत बागवानी विकास योजना के लिंक से ऑनलाईन आवेदन कर सकते हैं. योजना का लाभ लेने के लिए किसानों से एलपीसी अथवा अद्यतन जमीन रसीद की अनिवार्यता नहीं होगी. ऐसे गैर-रैयत किसान जो पट्टे पर खेती करते हैं उनके द्वारा योजना का लाभ बगल के किसान से पहचान पत्र लेकर लिया जा सकता है. किसानों को आवेदन करते समय पहचान पत्र, एलपीसी अथवा रसीद या पट्टे पर खेती करने वाले किसान की पहचान एवं बैंक पासबुक की छायाप्रति अपलोड करनी पड़ती है.

विदेशी सब्जी की बोधगया समेत मगध में विशेष डिमांड

अन्तरराष्ट्रीय स्थल होने की वजह से बोधगया, राजगीर, नालंदा और आसपास के इलाकों में विदेशी पर्यटकों की आवाजाही ज्यादा होती है और ये लोग विदेशी सब्जी की डिमांड ज्यादा करते है. इस संबंध में मगध प्रमंडल के उद्यान विभाग के उपनिदेशक राकेश कुमार ने बताया कि किसानों द्वारा इन सब्जी के पौध और बीज ऑनलाईन खरीदे जा रहे हैं. इसके लिए सेन्टर ऑफ एक्सीलेन्स देशरी एवं चण्डी में उच्च गुणवत्ता की विदेशी सब्जी के पौध एवं संकर प्रभेद के सब्जी के पौध तैयार किए जा रहे हैं. विदेशी सब्जी के लिए गया में 8,000 पौध एवं औरंगाबाद, जहानाबाद, नवादा एवं अरवल जिला के लिए 4-4 हजार का लक्ष्य निर्धारित है अर्थात इस प्रमण्डल में कुल 24,000 पौध वितरित किए जाएंगे. संकर प्रभेद के बीजरहित खीरा, बैगन एवं कुकुरबिट्स के पौध के वितरण के लिए गया को 1.6 लाख जबकि औरंगाबाद, नवादा, जहानाबाद एवं अरवल जिला के लिए 80-80 हजार पौध का लक्ष्य निर्धारित है. इस प्रकार प्रमण्डल में कुल 4.80 हजार संकर सब्जियों के पौधे वितरित किए जा रहे हैं.


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!