ड्यूटी, रोजा और बेटी की देखभाल, तीन मोर्चे पर एक साथ डटी हैं महिला पुलिस ऑफिसर

Share

लॉकडाउन के दौरान पुलिस को ‘कोरोना हीरो’ क्यों कहा जा रहा है, इसका उदहारण लखनऊ की सब इंस्पेक्टर निदा अर्शी ने पेश किया है। महिला सब इंस्पेक्टर अपना कर्तव्य निभाते हुए अपने बच्ची की भी देखभाल कर रही है। इससे पहले राजस्थान पुलिस खिंवाड़ा थाना में कार्यरत कांस्टेबल धोली चौधरी भी डयूटी के दौरान अपने बच्ची की भी देखभाल करती नज़र आयी थी।

 

न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए अपने बच्चे को ड्यूटी पर ले जाने पर सब इंस्पेक्टर निदा अर्शी ने बताया की, आज मैं अपनी बच्ची को साथ लेकर आई हूं, क्योंकि इसकी दादी जो कि इसकी देखभाल करती थी वो बीमार हैं, इसलिए इसे साथ में लेकर पुलिस स्टेशन आना पड़ा है. कोरोना महामारी की वजह से इस वक्त हमें अपनी ड्यूटी हर हाल में करनी है, इसलिए इसे लेकर आई हूं. निदा अर्शी ने कहा कि इस वक्त वो रोजा भी रख रही हैं.

इससे पहले राजस्थान पुलिस खिंवाड़ा थाना में कार्यरत कांस्टेबल धोली चौधरी भी डयूटी के दौरान अपने बच्ची की भी देखभाल करती नज़र आयी थी। राजस्थान की कड़ी धूप में रोज़ ड्यूटी और मां का फ़र्ज़ निभा रही कांस्टेबल धोली चौधरी को हमारा सलाम है। खिंवाड़ा थाना बाड़मेर ज़िले में है और धोली इस थाने में पिछले 3 साल से कार्यरत हैं।

 

बाड़मेर जिले के छोटु गांव की धोली चौधरी पाली के खिंवाड़ा थाने में पिछले तीन सालों से सेवारत हैं, कोरोना महामारी में कोरोना वॉरियर्स के रूप में धोली का जिक्र करना इसलिए जरूरी हो गया क्योंकि वो 8 माह के अपने बेटे जयदित्य के साथ कड़ी धूप में कोरोना से बचाव के लिए लोगों को जागरूक करती दिखाई दे रही हैं।

कोरोना संक्रमण के बीच अपने 8 साल के बच्चे को लेकर चलना आसान नहीं है. लेकिन, ये कहा जा सकता है कि वो अपने बेटे को अकेले नहीं छोड़ सकती. यकीनन, एक मां की ज़िम्मेदारी भी मायने रखती है। पुलिस कांस्टेबल धोली चौधरी के जज़्बे और हौसले को सलाम है।


Share

NNB Live Bihar

NNBLiveBihar डॉट कॉम न्यूज पोर्टल की शुरुआत बिहार से हुई थी। अब इसका विस्तार पूरे बिहार में किया जा रहा है। इस न्यूज पोर्टल के एडिटर व फाउंडर NNBLivebihar के सभी टीम है। साथ ही वे इस न्यूज पोर्टल के मालिक भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!