सकरा से आतंकी संगठन का तार जुड़ने के बाद गाँव में दहशत

Share

सकरा ,मुजफ्फरपुर :-आतंकी संगठन पीएफआई एवं एसडीपीआई के सदस्यों के साथ सकरा के बरियारपुर ओपी अंतर्गत खालिक नगर गौरिहार पंचायत के मजहर उल इस्लाम का नाम जुड़ने के बाद गांव में दहशत कायम हो गया है किसी न किसी सरकारी एजेंसी के द्वारा नजरुल इस्लाम के गतिविधियों की जांच होने से परिवार के लोगों में दहशत है ।हालांकि पंचायत के मुखिया एवं ग्रामीणों के द्वारा यह बात सिरे से खारिज किया जा रहा है की मजहर उल इस्लाम का संबंध किसी आतंकी संगठन से है ।

ग्रामीण मोहम्मद हकीम का कहना है कि के मोहम्मद अब्बास के दो पुत्र मजहरउल इस्लाम एवं अमीरउल हक है अमीरउल हक बीते 10 वर्षों से दुबई में नौकरी करता है जबकि मजहर उल इस्लाम इस्लामिक दीनी तालीम हासिल कर मस्जिद में इमामत करता है ।कुछ दिनों पूर्व तक गौरीहार के ही पैतरापुर मस्जिद में इमामत करता था ।इधर तीन चार महीनों से वह बेरोजगार है । पंचायत के पूर्व मुखिया महेश शर्मा ने कहा कि मजहर उल इस्लाम का संबंध पीएफआई एवं एसडीपीआई नामक संगठन से है या नहीं यह जांच का विषय है लेकिन ग्रामीण परिवेश में उनका चरित्र बेहतर है उन्होंने कहा कि उनकी पत्नी अफसाना खातून मुजफ्फरपुर पंखा टोली के समीप प्राथमिक विद्यालय में शिक्षिका के पद पर कार्यरत है इनका ससुराल ताजपुर में है। इनके पास दो छोटे-छोटे बच्चे हैं। वह अपने बच्चों के साथ मुजफ्फरपुर में किराए के मकान में रहती है नजरुल इस्लाम भी मुजफ्फरपुर आता जाता है बेरोजगार होने पर उनके खर्चों का भरण पोषण पत्नी के पगार से चलता है । पंचायत के मुखिया संजय शाह ने कहा कि मजहर उल इस्लाम गांव के सज्जन लोगों में से एक है उनके द्वारा कभी-कभी गांव के कार्यक्रमों में दीनी तालीम पर तकरीर होती है लेकिन कभी ऐसा नहीं लगता कि उनका संबंध किसी आतंकी संगठन से हो कभी भी किसी अजनबी का आना जाना उनके घर पर नहीं रहा है ।दो भाइयों के बीच आपसी बटवारा होने के बाद दोनों अलग-अलग रहते हैं ।बड़ा भाई अमीरउल हक पुश्तैनी घर से अलग होकर अपना मकान बना रहे हैं जबकि मजहरूल इस्लाम अभी पुराने घर में ही है ।मजहरउल इस्लाम की माता 70 वर्ष की जमीला खातून का कहना है कि उनके पुत्र पर लगाए गए इल्जाम गलत है ।वह हाफिज ए कुरान है बेरोजगार है परंतु गलत नहीं है ।सरकार के तंत्र के द्वारा जांच के बाद यह बात स्पष्ट हो जाएगी ।कानून पर उन्हें पूरा विश्वास है ।हालांकि शुक्रवार के दिन मीडिया कर्मियों के द्वारा जब उनसे उनके पुत्र के बारे में पूछताछ की गई तो वह पहले खुद घबरा गई यह कहने लगी कि कहीं कुछ गलत तो नहीं हो गया। आस-पड़ोस के लोगों को बुलाई तथा मामला समझने को कही । वह खुद नहीं समझ रही है कि उसका बेटा क्या कर रहा है । वह सिर्फ इतना बता पा रही है कि उसकी बहू मुजफ्फरपुर में शिक्षिका है जो मुजफ्फरपुर में ही रहती है उनका कहना है कि पहले उनके पास करीब डेढ़ बीघा जमीन था लेकिन बेटियों की शादी में उनके पति ने बेच दिया ।मेहनत मजदूरी कर किसी तरह दोनों बच्चों को पढ़ाया ।दोनों अपनी मेहनत के बदौलत अपने परिवार का भरण पोषण करता है ।आज भी मजहरुल इस्लाम का मकान ईंट वह कपड़े का है । घटना के संदर्भ में बताते चलें कि
फुलवारी शरीफ में पुलिस ने दो आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आईबी की सूचना पर देश विरोधी गतिविधियों में शामिल रहने और लोगों को आतंकी प्रशिक्षण देने वाले पीएफआई (पोपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया) और एसडीपीआई (सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया) के सदस्य मोहम्मद जलालुद्दीन और पटना के गांधी मैदान ब्लास्ट कांड के आरोपी के सगे भाई अतहर परवेज को गिरफ्तार किया है। इन दोनों से एनआईए और एटीएस की टीम ने पूछताछ की है


Share

Vikash Mishra

NNBLiveBihar डॉट कॉम न्यूज पोर्टल की शुरुआत बिहार से हुई थी। अब इसका विस्तार पूरे बिहार में किया जा रहा है। इस न्यूज पोर्टल के एडिटर व फाउंडर NNBLivebihar के सभी टीम है। साथ ही वे इस न्यूज पोर्टल के मालिक भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!