JEE Main 2022 topper : सकरा की जयाप्रिय बनी टॉपर, हर दिन 08 से 10 घंटे की पढ़ाई।

Share

MERIT : सकरा का जयाप्रिय बनी जेइई मेन में जिले का टॉपर, प्रथम प्रयास में मिली सफलता।

परिजनों एवं शिक्षा प्रेमियों में है खुशी की है लहर, नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) द्वारा जारी किया गया जेईई मेन का परिणाम, जिला टॉपरों की सूची में शामिल जयाप्रिय को 89.83 प्रतिशत अंक प्राप्त हुआ है। जयाप्रिय को गणित में सर्वाधिक 97.73 परसेंटाइल अंक मिले हैं। उसे प्रथम प्रयास में ही यह सफलता हासिल हुई है। परिणाम आने के बाद से ही उनके घर पहुंच लोगों द्वारा बधाई देने का सिलसिला जारी है। बचपन से ही मेधावी जयाप्रिय सुशांत पब्लिक स्कूल मुजफ्फरपुर से 10वीं कक्षा की पढ़ाई पूरी की। जहां 87 प्रतिशत अंक के साथ विद्यालय की सूची में भी इनका नाम शामिल था। वर्तमान में ट्रिडेंट पब्लिक स्कूल मुजफ्फरपुर के 12वीं कक्षा के वे छात्रा हैं। जयाप्रिय ने इस सफलता का श्रेय कड़ी मेहनत को देते हुए कहा है कि यदि दृढ़ इच्छाशक्ति हो तो किसी भी मुकाम को हासिल करना संभव है।

भारतीय प्रशासनिक सेवा में जाना है जयाप्रिय का लक्ष्य।
जेईई मेन के मुजफ्फरपुर टॉपर जयाप्रिय ने भारतीय प्रशासनिक सेवा में सफलता पाना अपना लक्ष्य बताते हुए कहीं है कि इसके माध्यम से देश और गांव की सेवा करने की इच्छा है। अपने लक्ष्य के प्रति कड़ी मेहनत जारी रखना बताते हुए होनहार युवती ने कहा कि अबतक मिली सफलता माता-पिता, बहन एवं दादी के साथ-साथ गुरूजनों एवं परिजनों का आर्शीवाद है और इसी आर्शीवाद के साथ मेहनत के बल पर निश्चित रूप से लक्ष्य प्राप्ति का दावा जयाप्रिय ने किया है।

मौके पर मौजूद पिता मुकेश चौधरी, माता सीमा चौधरी, दादी प्रेमा चौधरी, बहन माही चौधरी एवं भाई राघव चौधरी अपने लाल की सफलता पर गदगद हो उसे मिठाई खिला रहे थे। वहीं अन्य परिजनों एवं स्थानीय लोगों का भी बधाई देने के लिए जमावड़ा लगा था। पिता मुकेश चौधरी व्यवसाय व माता गृहिणी है। पिता मुकेश चौधरी ने बचपन से ही अपने पुत्री में पढऩे की ललक रहना बताया। वहीं सकरा के कई का संगठन, सकरा विधानसभा के चर्चित छात्र नेता रौशन कुमार, नगर पंचायत प्रत्याशी, समाजसेवी, ट्रिडेंट स्कूल के निदेशक एवं विद्यालय परिवार के सभी शिक्षक एवं छात्रों ने भी जयाप्रिय की सफलता पर बधाई दी है।

हर दिन 08 से 10 घंटे सेल्फ स्टडी की।
रौशन कुमार से खास बातचीत में जयाप्रिय बताती है, सेल्फ स्टडी का अच्छा समय मिला क्योंकि पहले कोचिंग की वजह से वो नहीं कर पाते थे। ऑनलाइन क्लास के बाद वो अपना समय विषय के रिवीजन और सेल्फ स्टडी पर देते थे। पढ़ाई के लिए उन्होंने एक रूटीन बना रखी थी। कभी-कभी युट्युब पर वीडियोज देखकर अपना स्ट्रेस कम करते थे। लॉकडाउन को फायदेमंद बताते हुए कहा कि अपनों का साथ मिला तो तनाव से बच सकें। उन्होंने बोर्ड परीक्षाओं से ज्यादा जेईई मेन्स परीक्षा के लिए तैयारी की है। आगे इन्हें आईएएस करना है।

CS में बीटेक करना चाहती हैं जयाप्रिय।
कंप्यूटर साइंस में बीटेक करना चाहती हैं और NIT Trichy में एडमिशन लेना चाहती हैं जयाप्रिय कहती हैं, सभी एनआईटी प्रतिष्ठित हैं, इसलिए मैं किसी भी आईआईटी में शामिल होने के लिए तैयार हूं जो मेरा पंसदीदा कोर्स ऑफर करता हो, अगर मेरा कोर्स शामिल हुआ तो मैं NIT Trichy चुनना पसंद करूंगी, यह तमिलनाडु में भी स्थित है। तमिलनाडु का मौसम सभी के लिए उपयुक्त है और NIT Trichy का परिणाम दूसरों की तुलना में कहीं बेहतर है।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!