अविश्वास प्रस्ताव नही लगाने पर वार्ड पार्षदों का फूटा गुस्सा , नप कार्यालय के समक्ष किया धरना प्रदर्शन

Share

चनपटिया से सिद्धार्थ कुमार की रिपोर्ट

चनपटिया:- नगर पंचायत के लिए शुक्रवार का दिन काफी उथल-पुथल भरा रहा। नप कार्यालय के मुख्य द्वार पर 10 बागी वार्ड पार्षदों ने नप के मुख्य पार्षद विमला देवी एवं नप कार्यपालक पदाधिकारी बसंत कुमार के विरुद्ध मोर्चा खोलते हुए धरना-प्रदर्शन पर बैठ गए। धरना प्रदर्शन पर बैठे वार्ड पार्षदों ने नप कार्यपालक पदाधिकारी एवं मुख्य पार्षद के विरुद्ध जमकर नारेबाजी भी की। पार्षदों का कहना था कि हम सभी 10 वार्ड पार्षद मुख्य पार्षद के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लगाने के लिए मुख्य पार्षद एवं नप के कार्यपालक पदाधिकारी बसंत कुमार को संयुक्त हस्ताक्षर का एक आवेदन सौंपा था। उक्त पत्र के आलोक में मुख्य पार्षद द्वारा नियमानुसार अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा एवं मतदान हेतु 7 दिनों के अंदर तिथि का निर्धारण किया जाना था लेकिन मुख्य पार्षद द्वारा तिथि का निर्धारण नहीं किए जाने पर बागी पार्षदों द्वारा नियमानुसार बैठक हेतु 19 जुलाई की तिथि निर्धारित की गई। बावजूद इसके कार्यपालक पदाधिकारी ने बैठक की कोई सूचना का प्रेषण नहीं किया। जिससे पार्षदों ने माना कि कार्यपालक पदाधिकारी द्वारा हम पार्षदों के संवैधानिक अधिकारों का हनन किया जा रहा है। जिससे अपनी मांगों के समर्थन में वार्ड पार्षदों ने 23 जुलाई से अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन पर बैठने की चेतावनी भी दी। ईधर पार्षदों ने अपनी मांगों को जायज ठहराते हुए नप कार्यालय के समक्ष धरना-प्रदर्शन पर तबतक बैठने की चेतावनी दी जब तक इनकी मांगों को कोई पूरा ना कर दे या फिर पूरा करने का विभागीय आश्वासन ना मिल जाए। धरना प्रदर्शन में वार्ड पार्षद किरण देवी, चंद्रमोहन प्रसाद, गुलनयारा खातून, सुशीला देवी, मनोहर प्रसाद, अंशु बिहारी, चंदा कुमारी, नीलम देवी, माधव प्रसाद, वार्ड पार्षद प्रतिनिधि महफूज राजा, कृष्णा पासवान, विकास केशरी आदि शामिल रहे। इस संबंध में नप कार्यपालक पदाधिकारी बसंत कुमार ने बताया कि एक्ट के अनुसार जो भी निर्णय होगा उसे हरहाल में पूरा किया जाएगा। विभाग से मार्गदर्शन प्राप्त करने हेतु दिशा-निर्देश मांगा गया है। दिशा-निर्देश प्राप्त होते ही अग्रतर कारवाई की जाएगी।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!