सुपर समार्ट विज़न के नाम से एक ऐसा फ्रॉड कंपनी जो पहले कंप्यूटर सिखाने के नाम पर छात्रो को बनता है, अपना निशाना फिर करवाता है, दलाली

Share

फ्रॉड कंपनी सुपर समार्ट विज़न के जरिये ठगी के जाल में फंसकर लाखों रुपये गवां चुके 50 से ऊपर पीड़ित छात्र , पीड़ित छात्र द्वारा बताए गए पते पर मीडियाकर्मियों के द्वारा जांच की तो पूछताछ में पता चला कि बताए गए पते पर सुपर समार्ट विज़न नाम की कोई भी कंपनी पहले से नहीं थी।

मीडिया के अनुसार, पीड़ितों का कहना है कि ठगों ने मुज़फ़्फ़रपुर स्थित बिबिगंज नियर ऑरेंज वैलि स्कूल के बगल में सुपर समार्ट विज़न के नाम की कंपनी खोल रखी थी। कंपनी ने प्रति छात्र नौकरी देने की बात कही थी। लोगों ने इस लालच में आकर लाखों रुपये जमा कर कंपनी सें जुड़ गये।

जुड़ने से पहले छात्रो से बताया जाता है, पहले आप मेरे कंपनी से जुड़े, उसके बाद इस कंपनी के माध्यम से आपको कंप्यूटर सिखाया जाएगा जिसके पश्चात आपको नौकरी भी दिया जायेगा, कंपनी से जुड़ने का क़ीमत 8000रु प्रति छात्र बताया जाता है। साथ ही ये भी कहा जाता है, अगर आप मेरे कंपनी से जुड़ने के बाद मेरे द्वारा दिये गये सुविधाओ से संतुस्ट नही है, तो 15 दिन के अंदर आपको आपका पैसा वापस किया जाएगा। परन्तु कंपनी से जुड़ने के बाद उस कंपनी के ओनर मो. जावेद अली के द्वारा छात्रो को दलाली करने को मजबूर किया जाता हैं। मो. जावेद कहते हैं, की आप सब अपने माध्यम से और भी अधिक संख्या में छात्र को मेरे कंपनी से जोड़े जिसके लिए आपको कमीशन दिया जाएगा। परन्तु जो छात्र ये काम करने से मना कर दिया उसको मेंटली डिस्टर्ब किया जाने लगा। लगभग 10 दिन के बाद 5 छात्र के द्वारा अपना पैसा वापस मांगने पर उसको धमाकि देकर उनका मुँह बंद करा दिया जाता है। कुछ दिन बाद covid-19 के वजह से लॉकडाउन लग गया जिसके बाद फ्रॉड कंपनी सुपर समार्ट विज़न अपने पहले जगह को छोड़ दूसरी जगह कहीं सिफ्ट हो जाता है। लॉकडाउन खुलने के बाद छात्रो के घर वालोंं के द्वारा जब उस फ्रॉड कंपनी के बारे में पता लगाया जाता है, तो उसके नया जगह मुज़्ज़फ़रपुर स्थित भगवानपुर गोलम्बर नियर भवानी स्वीट के बगल में पता लगता है। छात्र के घर वाले जब वहां मीडिया को लेके पहुछ्ते है, तो वहां पर मौजूद सुपर समार्ट विज़न के ओनर एव उस कंपनी के कंप्यूटर टीचर मासूम कुमार से पुछ्ताछ में मिली जानकरी के अनुसार ये साबित हो जाता है, कहीं न कहीं ये कंपनी छात्रो को अपना सीकार बना कर उनके जिन्दगी से खिलवाड़ कर रहा है। पुछ्ताछ के वक़्त मो. जावेद एंव मिस्टर मासूम अपने ही बातों में फसते नजर आते हैं। उनके द्वारा बताया जाता है, उनका हेड ऑफिस न्यू दिल्ली तथा सपोर्ट ऑफिस पटना में है। हेड ऑफिस का पता Janta Jeevan, Okhla Industrial Area, Phase – II, New Delhi – 110020 और सपोर्ट ऑफिस का पता Jaiprakash Nagar, Ashiyana, Patna ( Bihar ) बताया जाता है। साथ ही बताया जाता है, की उनका कंपनी का ऑफिस पटना और मुज़्ज़फ़रपुर के अलावे बिहार में विभिन जगहों पर भी स्थित है, जैसे कि बेगूसराय, समस्तीपुर, वैशाली, मोतिहारी, दरभंगा इतना जानकरी मिलने के बाद छात्र के घर वालोंं के द्वारा मो. जावेद से बोला जाता है। आप अपने हेड ऑफिस तथा सपोर्ट ऑफिस या बिहार में स्थित किसी भी ऑफिस का कांटेक्ट नम्बर दीजिये ताकि वहां से सम्पूर्ण जानकारी लेने के बाद संतुष्ट हो सकू, परन्तु मो. जावेद और मिस्टर मासूम के द्वारा साफ शब्दोंं में मना कर दिया जाता है, कि मैं ऐसा किसी का सम्पर्क नम्बर अथवा परसनल जानकरी आपलोग से साझा नहीं कर सकता। इतने सवलो में ही जावेद और मासूम अपने बातों में फसने लगे थे।

उस कंपनी में धोखाधडी के सीकर हुए सभी छात्र एव छात्राओ का बिहार सरकार एव केंद्र सरकार से यही अपील है, कि ऐसे फ्रॉड कंपनी पर तत्काल जांच बैठा कर उसके ऊपर कठोर से कठोर कार्रवाई किया जाए और इस कंपनी पर सरकारी ताला लगवाई जाए तथा उन सभी छात्रो का पैसा वापस किया जाए जो इस कंपनी में धोखाधडी के सीकार बने हैं।

ABN न्यूज बिहार संवाददाता अभिषेक पाण्डेय का रिपोर्ट


Share

NNB Live Bihar

NNBLiveBihar डॉट कॉम न्यूज पोर्टल की शुरुआत बिहार से हुई थी। अब इसका विस्तार पूरे बिहार में किया जा रहा है। इस न्यूज पोर्टल के एडिटर व फाउंडर NNBLivebihar के सभी टीम है। साथ ही वे इस न्यूज पोर्टल के मालिक भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!